• चीन का कहना है कि वह तिब्बत में अलगाववादी आपराधिक गिरोहों से लड़ने के लिए वी चैट का उपयोग करता है

    तिब्बयतनरिव्यू.नेट, 8 मई, 2019

    चीन ने 6 मई को कहा कि वह तिब्बत में ‘गिरोह अपराधों’ से निपटने के लिए वी चैट का उपयोग कर रहा था, जिसका अर्थ है कि इसका इस्तेमाल ‘अलगाववाद फैलाने और अलगाववादी घटनाएं पैदा करने वाले’ संदेशों पर रिपोर्ट करने के लिए किया जा रहा था। इसे आधिकारिक तौर पर गिरोह अपराधों से लड़ने के लिए सोशल मीडिया के फायदों का उपयोग करने के लिए राष्ट्रव्यापी प्रवृत्ति करार दिया गया है। आधिकारिक वेबसाइट globaltimes.cn ने विशेषज्ञों के हवाले से कहा है कि सोशल मीडिया का उपयोग करने से न केवल अधिकारियों को साक्ष्य जुटाने में मदद मिलेगी बल्कि आम जनता को भी सुझावों की रिपोर्ट देने में भी आसानी होगी।

    क्षेत्रीय दल के मुखपत्र तिब्बत डेली में 6 मई की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि वर्ष की शुरुआत के बाद से कोंजो (गोंजो इन छंदो सिटी) अधिकारियों ने स्थानीय गांवों और पड़ोस समितियों के वी चैट समूहों के माध्यम से 2,000 से अधिक संदेश एकत्र किए थे। इसने कहा कि वीचैट समूहों को काउंटी अधिकारियों द्वारा गिरोह और अवैध संगठनों से दूर रहने का आग्रह करने के उपकरण के रूप में गठित किया गया था।

    चीन की सर्वोच्च राजनीतिक सलाहकार संस्था- चाइनीज पीपुल्स पोलिटिकल कंसलटेटिव कांफ्रेंस की राष्ट्रीय समिति के जातीय और धार्मिक मामलों की समिति के पूर्व प्रमुख झू वेकुन को यह कहते बताया गया है कि‍ ‘तिब्बती क्षेत्र के कुछ गिरोह दलाई गुट के साथ मिल गए हैं, ताकि गुट अलगाववाद को फैलाने में मदद कर सके और अलगाववादी घटनाओं को पैदा कर सके।‘

    झू ने कहा, ‘दलाई गुट वी चैट सहित आधुनिक संचार चैनलों का उपयोग करने में बहुत माहिर है।‘

    चीन तिब्बत में अपनी नीतियों की सभी कथित आलोचनाओं पर विचार करता है।

    उन्होंने कहा कि चीन तिब्बत में अपनी नीतियों की सभी कथित आलोचनाओं पर विचार करता है। इनमें तिब्बत की भाषा और संस्कृति, अलगाववादी अपराधों के संरक्षण की वकालत करना भी शामिल है।

    रिपोर्ट में कहा गया है कि वहां से स्थानीय लोगों में से ही प्रतिनिधियों का चयन किया गया और उन्हें निश्चित अवधि के दौरान एक दिन में कम से कम एक संदेश देने को कहा गया है। स्थानीय अधिकारी तब इन संदेशों की जांच कर पुष्टि करते हैं और संवाददाताओं को संदेशों की प्रामाणिकता, समयबद्धता और मूल्य के अनुसार पारिश्रमिक प्रदान किया जाता है।

    रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन के अन्य शहरों और क्षेत्रों में, हेफ़ेई, पूर्वी चीन के अनहुई प्रांत, और यंग्ज़हो जिले के निंगबो सहित कथित तौर पर गिरोह अपराधों पर नकेल कसने के लिए वीचैट समूहों का इस्तेमाल किया गया था।

    Categories: मुख्य समाचार, समाचार

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *