• तिब्बत के प्रति केंद्र सरकार की ढुलमुल नीति की आलोचना

    आर एस एस नेता इन्द्रेश कुमार व गोविंदाचार्य बृहस्पतिवार को धर्मशाला में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए। -कमलजीत

    धर्मशाला,21 अप्रैल(निस)। आर.एस.एस ने तिब्बत के प्रति केन्द्र सरकार की ढुलमुल नीति की आलोचना की है और कहा है कि केन्द्र सरकार की ऐसी नीतियों की वजह से चीन भारत के कई क्षेत्रों पर अपना अधिकार जताता चला आया है।
    धर्मशाला में कीर्ति गुम्पा में चीनी दखल के विरोध में भुख हड़ताल पर बैठे तिब्बती भिक्षुओं के प्रति अपना समर्थन जताने आए आर.एस.एस राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य गोबिंदा चार्य और इन्द्रेश कुमार ने कहा कि तिब्बत में हो रहे मानवाधिकार हनन के बारे में भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आवाज उठानी चाहिए। उन्होंने कहा कि तिब्बत के प्रति भारत की कोई निश्चित नीति न होने के कारण चीन की ज्यादीतिया बढ़ रही हैं और तिब्बत में चीन खुल कर मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है। उन्होंने कहा कि  आर.एस.एस पूरी तरह तिब्बत के लोगों का समर्थन करता है और उनकी घर वापसी के लिए प्रयत्नशील है। आर.एस.एस नेताओं ने कीर्ति गुम्पा में तिब्बत के लोगों के खिलाफ चीन की ज्यादतियों के विरोध में शुरू किए गए हस्ताक्षर अभियान में भी भाग लिया।

    Categories: तिब्बत पर भारतीय नेताओं के विचार, मुख्य समाचार, लेख व विचार

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *