• संगोष्ठी में वक्ताओं ने तिब्बत की आजादी मांगी

    दैनिक भास्कर, 11 दिसंबर, 2018

    बांसवाड़ा| मंथन प्रवाह और तिब्बत शरणार्थी संघ के सान्निध्य में सोमवार को तिब्बती मार्केट में भारत तिब्बत संबंधों पर संगोष्ठी हुई। इसमें सभी वक्ताओं ने एक स्वर में तिब्बत की आजादी की मांग की। मुख्य वक्ता प्रो. दिनेश द्विवेदी ने कहा कि चीन ने तिब्बत पर कब्जा करके संयुक्त राष्ट्र संघ के चार्टर का खुला उल्ल्घंन किया है। उन्होंने तिब्बत के इतिहास से लगाकर वर्तमान स्थितियों का सार प्रस्तुत करते हुए कहा कि धर्म व अध्यात्म की इस धरती पर अत्याचारों को रोका जाना चाहिए।

    लाॅयन्स क्लब के पूर्व अध्यक्ष जयप्रकाश पड्ंया ने कहा कि तिब्बत के शां‍ति प्रिय लोगों ने दलाई लामा के नेतृत्व में पिछले 60 वर्षों में अहिंसक आंदोलन चलाया है। सामाजिक कार्यकर्ता जयंतीलाल भट्ट ने कहा कि चीन के साम्राज्यवादी दृष्टिकोण ने तिब्बत में मानवाधिकारों का हनन किया है। विशिष्ट अतिथि साईंबाबा ट्रस्ट के अध्यक्ष हर्ष कोठारी ने कहा कि भारत वर्ष की इस धरती पर तिब्बतियों का सदैव स्वागत है। समारोह में डाॅ. दीपक द्विवेदी ने कहा कि यहां न सिर्फ तिब्बत के लोग आते हैं, अपितु तिब्बत से प्रवासी पक्षी बार हेडेड गीज़, तिब्बतीयन क्रेन के साथ अनेक प्रजातियों के प्रवासी परिंदे यहां आते हैं। उन्होंने कहा कि सभी समस्याओं का समाधान प्रेम, भाईचारे तथा शां‍ति से संभव है। इस अवसर पर राकेश भट्ट व तिब्बती शरणार्थी संघ द्वारा देश भक्ति के गीत प्रस्तुत किए गए।

    अतिथियों का स्वागत तिब्बत शरणार्थी संघ के नंवाग ने किया। समारोह में क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष महेश सराफ, सत्यनारायण सराफ, सज्जनसिंह राठौड़, डाॅ. विशाल उपाध्याय, राहुल सराफ, आशीष मेहता, लखन खंडेलवाल, मणिलाल पटेल व असलम मोहम्मद, नगर स्कूल के विद्यार्थियों सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। समारोह का संचालन बृजमोहन तूफान ने किया आभार कार्यक्रम संयोजक रिटायर्ड फौजी कर्मा ने जताया।

    Categories: मुख्य समाचार, समाचार

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *