• हाउस ऑफ कामंस (ब्रिटिश संसद के निचले सदन) में उठा तिब्बत मुद्दा

    तिब्बत.नेट, 2 मई, 2019

    हाउस ऑफ कॉमन्स में आज, तिब्बत के लिए सर्वदलीय संसदीय समूह के सह-अध्यक्ष आरटी माननीय सांसद टिम लॉटन ने सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट आरटी माननीय सांसद पेनी मोर्डांट के साथ तिब्बत मुद्दे को उठाया।

    सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट ने उल्लेख किया कि अंतर्राष्ट्रीय विकास विभाग (डीआईएफडीडी) संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी को विश्व स्तर पर शरणार्थियों की सबसे बड़ी मानवीय और सुरक्षा जरूरतों को प्राथमिकता देने के लिए धन मुहैया कराता है, इसमें तत्काल जीवनरक्षक सहायता की आवश्यकता में तिब्बती शरणार्थियों को शामिल किया गया है।

    आरटी माननीय सांसद टिम लॉटन ने बताया कि वह डुंडी सदस्यों के साथ तिब्बत के लिए 8वें विश्व संसदीय सम्मेलन (डब्ल्यूपीसीटी) में शामिल होंगे। इसमें तिब्बती लोगों पर आक्रमण और उत्पीड़न के 60 साल को याद किया जाएगा। इस दौरान तिब्बत में एक लाख लोगों की जान गई, संस्कृति का उत्पीड़न हुआ, भाषा और उन लोगों का मानवाधिकार का उत्पीड़न हुआ है। उनमें से कई धर्मशाला में शरणार्थी हैं, जिन्हें तिब्बत की भावना को जीवित रखने के लिए हमारी मदद की सख्त जरूरत है। ‘क्या हम इन शरणार्थियों को उनकी संस्कृति और शिक्षा कार्यक्रमों में मदद करने के लिए और अधिक कर सकते हैं? जिनको वे बहुत महत्व देते है।‘

    सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट ने एक बार फिर इस बात पर जोर दिया कि डीईएफआईडी से शरणार्थियों के लिए दिया जानेवाला अनुदान बहुत अधिक शिक्षा और मानवीय सहायता और समर्थन पर केंद्रित है।

    आरटी माननीय सांसद पेनी मोर्डंट ने कहा ‘मैं डीसीएमएस और एफसीओ दोनों में अपने सहयोगियों से बात करने का प्रयास करूंगा, ताकि पता लगाया जा सके कि हम तिब्बती लोगों की संस्कृति और विरासत का समर्थन करने के लिए और क्या कर सकते हैं।‘

    इस जवाब के बाद तिब्बत के लिए सर्वदलीय संसदीय समूह के एक सदस्य माननीय केरी मैकार्थी ने टिप्पणी की, ‘मुझे बहुत खुशी है कि मंत्री महोदय ने तिब्बत मुद्दे में रुचि ली है। मैं उनसे तिब्बत में जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभाव को देखने के लिए भी आग्रह करूंगा, जिसे अक्सर तीसरे ध्रुव के रूप में जाना जाता है। वहां हिमालय के ग्लेशियरों के पिघलने का तिब्बती क्षेत्र पर भारी प्रभाव पड़ता है और जब हम जलवायु परिवर्तन के बारे में बात करते हैं तो इसे अनदेखा कर दिया जाता है?

    सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट ने उन मुद्दों की पुष्टि की, जिनमें ब्रिटेन 17 वैश्विक लक्ष्यों में सबसे अधिक योगदान कर सकता है। ये हैं- स्वास्थ्य सेवा, जलवायु भागीदारी- जलवायु परिवर्तन पर तीन और महत्वपूर्ण मदद। पीएम संयुक्त राष्ट्र महासचिव के जलवायु पुनर्लौटाव के चैंपियन हैं जो आगामी महीनों में बहुत कुछ करने जा रहे हैं।

    Categories: मुख्य समाचार, समाचार

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *